National Independence Day of India | 15 August

National Independence Day of India | 15 August : Friends, today, I am going to talk about our Independence Day of India in this article and see when and why we celebrate our Independence Day.

When and Why We Celebrate Independence Day of India ..?

हम अपना Independence Day 15 August को मनाते हैं । क्योंकि उस दिन भारत में राष्ट्रीय अवकाश के रूप में 15 August 1947 को यूनाइटेड किंगडम के स्वतंत्र मनाने के लिए UK की संसद ने भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947 को भारतीय संविधान सभा में विधायक संप्रभुता को स्थानांतरित कर दिया था । भारत में अभी भी गणतंत्र संविधान में राज्य के प्रमुख के रूप में राजा जॉर्ज को परिवर्तित होने तक बरकरार रखा है ।

National Independence Day of India | 15 August

Indian National Congress यानी कि आईएनसी के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर अहिंसक प्रतिरोध और नागरिक अवज्ञा के लिए स्वतंत्रता आंदोलन के बाद भारत में आखिर में आजादी हासिल कर ही ली । स्वतंत्रता तो हुई लेकिन वह India के विभाजन के साथ ।

इनमें ब्रिटिश भारत को धार्मिक लाइनों के साथ भारत और पाकिस्तान जैसे डोमिनियनों में विभाजित किया गया था । विभाजन भी काफी अजीब तरीके से हुआ जिस में हिंसक दंगे हुए और सामूहिक हताहतों के साथ और धार्मिक हिंसा भी हुई उनके कारण लगभग 15 Millions लोगों के विस्थापन के साथ हुआ।

Who is The First PM of India .?

15 August 1947 को भारत के पहले PM जवाहरलाल नेहरू ने दिल्ली में लाल किले की लाहोरी गेट के ऊपर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज लहराया था प्रत्येक आगामी Independence Day पर मौजूदा PM मोटे तौर पर बोझ उठाते हैं और देश को एकता प्रदान करते हैं यानी कि उसको एक पता देते हैं ।

National Independence Day of India | 15 August

अगर देखा जाए तो 1930 के दशक के दौरान सुधार धीरे-धीरे अंग्रेजों द्वारा कानूनबद्ध किया गया था । इनके परिणाम के स्वरुप में चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल कर ली । उनके अगले दशक में राजनीतिक और शांति के साथ धिरा हुआ था ।

National Independence Day of India | 15 August

दूसरे विश्वयुद्ध में कांग्रेस की भागीदारी और कांग्रेस के असहयोग के लिए अंतिम तक का के साथ अखिल भारतीय मुस्लिम लीग के नेतृत्व में मुस्लिम राष्ट्रवाद का उदय था। लेकिन बढ़ते हुए राजनीतिक तनाव को 1947 में स्वतंत्रता से ढक दिया गया था । लेकिन भारत और पाकिस्तान के खूनी विभाजन के लिए इन दोनों देश के संबंध में खराबी आ गई ।

1929 Full Swaraj declaration in the Lahore session

1929 भारतीय कांग्रेस के लाहौर सत्र में पूर्ण स्वराज घोषणा यानी कि भारत की आजादी की घोषणा की गई और 15 अगस्त को Independence Day घोषित किया गया । इस तरह से भारत ने आजादी हासिल की ।

कांग्रेस ने लोगों को नागरिक अवज्ञा के प्रति वचनबद्ध करने और समय समय द्वारा जारी किए गए कांग्रेस निर्देशों को पूरा करने के लिए कहा था जब तक कि भारत पूरी आजादी प्राप्त नहीं कर लेता । कैसे Independence Day का जश्न भारतीय नागरिकों के बीच राष्ट्रवादी उत्साह को रोकने के लिए और ब्रिटिश सरकार को आजादी देने पर विचार करने के लिए मजबूर किया गया था ।

National Independence Day of India | 15 August

 

लेकिन कांग्रेस ने 1930 और 1946 के बीच Independence Day के रूप में 26 जनवरी को मनाया । हमारे देश के पहले वडाप्रधान जवाहरलाल नेहरू ने अपनी आत्मकथा में वर्णित किया कि ऐसी मीटिंग शांतिपूर्ण, गंभीर, और बिना किसी भाषण के या उपदेश ।

हमारे देश के राष्ट्रपति गांधीजी ने कल्पना की बैठकों के अलावा दिन खर्च किया जाएगा । कुछ रचनात्मक काम करने के लिए । चाहे वह अस्पृश्यों की सेवा हो या हिंदू और मुसलमानों का पुनर्मिलन, और निश्चित कार्य यहां तक कि इन सभी को एक साथ । देखा जाए तो भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को उसके प्रभाव में आया । उस दिन से 26 जनवरी को Republic Day के रुप में मनाया जाता है ।

Independence Day is one of the three national holidays in India

Independence Day को देखा जाए तो भारत में तीन राष्ट्रीय छुट्टियों में से एक है । और हमारे लिए सबसे बड़ा दीन है । सभी भारतीय राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में मनाया जाता है स्वतंत्रता दिन । लेकिन अन्य दो छुट्टियां 26 जनवरी यानी कि Republic Day और 2 October यानी कि महात्मा गांधी के जन्मदिन के रूप में आती है । स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर भारत के राष्ट्रपति राष्ट्र को संबोधित प्रदान करते हैं । 15 अगस्त को प्रधानमंत्री दिल्ली में ऐतिहासिक स्थल लाल किल्ला के तट पर भारतीय ध्वज लहराते हैं ।

National Independence Day of India | 15 August

इस गंभीर अवसर के सम्मान में बीस ऐक बंदूक शॉट निकाल दिए जाते हैं । उनके बाद भारत का राष्ट्रीय गीत “जन गन मन” गाया जाता है । उन के बाद जोर-जोर से अपनी माता के समान भारत माता का जय जयकार होता है । सब में खुशी का माहौल फैल जाता है । सब लोग साथ में भारत माता की जय वंदे मातरम तरह-तरह के नारे लगाते हैं ।

इन के बाद देश के वडाप्रधान सभी नेताओं और शहीद हुए सैनिक को श्रद्धांजलि प्रदान करते हैं और उनकी एकता के बारे में बताते हैं । इस कार्यक्रम के खत्म हो जाने के बाद परेड और प्रेजेंट स्वतंत्रता संग्राम और भारत की विविध सांस्कृतिक परंपराओं के दृश्य दिखाते हैं । इसी तरह की घटनाएं राज्य राजधानियों में होती है अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री राष्ट्रीय ध्वज लहराता है इसके बाद परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होता है ।

How to Celebrate The Moment of Independence Day .?

इस तरह से हम सब लोग भारत में जोश और पूरे उत्साह से हमारे Independence day की छुट्टी को मनाते हैं और हमारे देश के प्रति एकता को कायम करते हैं । इस दिन काफी सारे लोग घूमने के लिए जाते हैं अपने घर पर तरह-तरह के खाने के लिए मिष्ठान लाते हैं ।

National Independence Day of India | 15 August

इस दिन को India की हर एक स्कूल में सुबह 7:00 बजे राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है । और National Anthem जाता है उसके बाद स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम होता है । जिससे हम हमारे देश के काफी सारे बच्चे खुश होते हैं और उनको हमारे देश के आजादी के बारे में पता चलता है ।

दोस्तों आपको अगर यह National Independence Day of India आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने फ्रेंड्स के साथ सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर कीजिए और अपनी राय नीचे कमेंट बॉक्स में दें । धन्यवाद

admin

Hey, This is Chirag Dhameliya and i am a part time blogger as a my hobby. But now i am stay in Cinematography line. in free time i post article about technology news, gadgets news and worlds popular news on indiankida. more info to visit my social account page. Thank You.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.